घोसी समाज की गायों के दूध के बने रसगुल्ले दुनिया में मशहूर हैं . बाबू भाई

घोसी समाज के यहां से मिलने वाले दूध और उस से बन ने वाले रसगुल्ला पूरी दुनिया में मशहूर हैं
घोसी समाज बहुत बड़ा समाज है और इनके पास हज़ारों गाएं हैं जो कि अलग अलग नस्लों की हैं ए घोसी समाज के लोगों को अलग अलग जगहों पर अलग अलग नामों से पुकारा जाता है। कहीं गुजर तो कहीं घोसी और कहीं कुछ और नाम से पुकारा जाता है।
घोसी समाज के जाने माने दूध व्यापारी और गाय पालक बाबू भाई जो कि अलग और नई नसल की गायों को रखते हैं जिनका कहना है कि गूजरों के पास देसी, अमेरिकन , जर्सी, होस्टन, राठी गाय हर वक़्त मिलती हैं।
बाबू भाई का कहना है कि रोज़ लाखों टन दूध हमारे यहां से बाज़ार में जाता है, जिस से कई क़िस्मों के दूध से आइटम बनते हैं जो कि पब्लिक में पसंद किये जाते हैं , इन में दूध से बने हुए रसगुल्ले देश ही नहीं दुनिया में मशहूर हैं।
बाबू भाई का यह भी कहना है कि राजस्थान और दूसरे प्रदेशों में भी गुजर यानि घोसी समाज दूध का व्यापार सब से ज़ियादा ,अच्छा और सही तरीके से दूध का काम कर के अपने परिवार को पाल रहे हैं।

सिंधी सिपाही समाज की एक नई स्मारिका जल्दी पब्लिश की जाएगी

आज दिनांक 26 जनवरी 2021 को धोबी तलाई में सिंधी सिपाही समाज की एक नई स्मारिका पब्लिश करने बाबत एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में सिंधी सिपाही समाज में जागरुकता पैदा करने और समाज को जोड़ने के लिए एक नई स्मारिका तैयार करने का फैसला लिया गया है।
समाज की इस से पहले भी एक सामाजिक स्मारिका पब्लिश हुई थी मगर उस को लम्बा समय बीत गया है। आज समाज में एकजुटता की आवश्यकता है, बिना एकता के कोई समाज विकास नहीं कर सकता है।
इस बैठक में जहां स्मारिका पब्लिश करने पर ज़ोर दिया गया वहीं समाज में पढ़ने वाले बच्चों में अच्छे अंक लाने वालों को सम्मानित किया जाएगा। इसी तरह से समाज में बहुत सी प्रतिभाएं हैं विभिन्न क्षेत्रों में उनकी जानकारी भी इस स्मारिका में शामिल की जाएगी और स्मारिका की शोभा बढ़ाने बाबत ज़रुरत के अनुसार इस में समाज सुधार के लिए दानिष्वरों से उनके विचारों को आलेखों की शक्ल में छापे जाएंगे।
इस बैठक में तैय किया गया है कि आगामी बैठक जल्दी ही इतवार तक रखने की मन्शा ज़ाहिर की गई है। आज की इस बैठक में मास्टर मुइनुद्दीन जी, हाजी अब्दुर्रहमान पंवार, मक़बूल अहमद पड़िहार, काॅमरेड अब्दुर्रहमान कोहरी, कुंवर नियाज़ मुहम्मद पत्रकार एवं एडवाकेट, मुहम्मद असलम एडवोकेट, मास्टर मुहम्मद सद्दीक़ पड़िहार और इदरीस अहमद जोईया कर्मचारी लीडर शामिल हुए और सभी ने समाज सुधार और तरक़्क़ी के लिए अपने-अपने विचार रखे जो कि बहुत ही सराहनीय हैं।

बीकानेर में ए. आई. आर. एफ का धरना प्रदर्शन

ए. आई. आर. एफ के आह्वान पर पूरे देश मे चल रहे रेल कर्मचारियों के 01 जनवरी से 15 जनवरी तक सघन अभियान पखवाड़ा के नोंवे दिन आज कॉमरेड अनिल व्यास जोनल प्रेसिडेंट नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन के नेतृत्व मे भारी संख्या में रेल कर्मचारियों ने मण्डल चिकित्सालय लालगढ़ मे प्रदर्शन किया ।

आज पूरे 8 दिन निरंतर मण्डल के विभिन्न स्टेशनों व उपमंडलों मे प्रदर्शनों का क्रमबद्ध होने के बावजूद आज पुनः रेल कर्मचारी रेलवे हॉस्पिटल लालगढ़ पहुँच कर प्रदर्शन को सफल बनाया
कॉमरेड अनिल व्यास जोनल प्रेसिडेंट ने वहाँ मौजूद सभी रेलकर्मीयों को अपने उद्बोधन में कहा कि जिस तरह पूरे देश में एन.पी.एस. को लेकर देश के समस्त कर्मचारियों मे भारी विरोध है।

सरकार ने इस पर कोई विचार नहीं किया तो कर्मचारी शीघ्र ही ए. आई. आर. एफ के नेतृत्व मे एक बड़ा विरोध प्रदर्शन करेगे, सरकार जिस तरह कोविड की आड़ मे ट्रेनों को स्पेशल ट्रेनों के नाम से चला कर आम जनता की सुविधाओं को अनदेखा कर रही है और पूंजीपतियों के हाथ मे रेल संचालन देने का काम कर रही है इसे रेलकर्मीयों में भारी रोष है ।

देश के उद्योगपतियों के हाथ रेल अगर जाती है तो देश के लिए बड़ा हानिकारक है। यह एक आम आदमी का सबसे सुलभ साधन है। सरकार के द्वारा सभी मार्ग आवागमन के लिए खुल गए है परन्तु रेल का नियमित संचालन नहीं कर रही है। इसे जल्द चालू करें। रेल कर्मचारी पूर्व मे भी कोविड आपदा मे भी लगतार सेवा दे कर गुड्स ट्रेन के संचालन मे वर्द्धि की है। सभी रेल साथी बधाई के पात्र है।
कॉम अनिल व्यास जोनल अध्यक्ष ने आज कर्मचारियों की मंडल चिकित्सालय के अधीन लबित मांगो के लिए मुख्य चिकित्सा अंधीक्षक लालगढ से बात की ओर मेडिसिन के सम्बंद एवं लंबे समय से गमबीर बीमारी से त्रस्त कर्मचारियों का मेडिकल सुविधा एवं अन्य कार्यवाही के सम्बद्ध मे बात की ओर इसे जल्द पूरा करने को कहा अन्यथा आगमी दिनों मे मांगो को पूरा नही किया तो रेल चिकित्सालय के आगे धरना ओर प्रदर्शन को किया जाएगा

जिसकी समस्त जवादरी रेल प्रशासन की होगी पूर्व मे जोनल अध्यक्ष ने समस्त चिकित्सालय मे निरक्षण किया था जब कर्मचारियों ने अपनी अस्पताल मे हो रही परेशानियों से अवगत करवाया था।
कॉम गणेश वासिष्ठ शाखा सचिव लालगढ ने प्रदर्शन मे आये सभी युवा को सम्बोधन मे सरकार को चेताया कि रेल निजीकरण का अगर कोई भी संचालन बीकानेर मंडल से हुआ तो सभी रेलकर्मी इस के लिए बड़ा विरोध के लिए तैयार है और हम हर हाल मे इसका विरोध करेगे।

पूर्व मे बाद हुए डी.ए. को फ्रीज को पुनः बहाल करें ओर युवा का भविष्य ओ.पी.एस को भी पुनः लागू करें
इस प्रदर्शन मे कॉम दिनेश सिंह, कॉम मुस्ताक अली, विजय श्रीमाली, रामहंस मीना , धर्मेंद्र , पवन कुमार, सेवानंद, प्रदीप चौधरी , संजीव मालिक अल्ताफ़ खान, संजय हर्ष, श्रीराम , राजेन्द्र चंदेला , कुलदीप , मोहम्मद आरिफ, अमरनाथ, सुशील, मनोज रावत सेवानिवृत्त मोहम्मद हसन, लालचंद इनखिया, और बहुत से साथी कर्मचारी मौजूद रहे

संजय राउत की पत्नी को पूछताछ के लिए ईडी का समनए पी एम सी बैंक घोटाले में पूछताछ के लिए बुलाया

नयी दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को पीएमसी बैंक धनशोधन मामले में पूछताछ के लिए 29 दिसम्बर को तलब किया है।

यह जानकारी अधिकारियों ने रविवार को दी। वर्षा राउत को मुंबई में केंद्रीय एजेंसी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है। यह उनको पेश होने के लिए जारी तीसरा समन है। इससे पहले वह दो बार स्वास्थ्य आधार पर एजेंसी के समक्ष पेश नहीं हुई हैं।

पूछताछ के लिए उन्हें समन धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत जारी किया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने दावा किया कि ईडी वर्षा राउत से उस राशि की रसीद के बारे में पूछताछ करना चाहता है जिसका कथित तौर पर बैंक से गबन किया गया था।

ईडी ने पिछले साल अक्टूबर में पंजाब एण्ड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक में कथित ऋण धोखाधड़ी की जांच के लिए हाउजिंग डेवलपमेंट इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल), उसके प्रमोटर राकेश कुमार वधावन और उनके बेटे सारंग वधावन, उसके पूर्व अध्यक्ष वी. सिंह और पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस के खिलाफ पीएमएलए में एक मामला दर्ज किया था।


एजेंसी ने पीएमसी बैंक को कथित रूप से प्रथम दृष्टया गलत तरीके से 4,355 करोड़ रुपये का नुकसान और खुद को लाभ पहुंचानेके लिए उनके खिलाफ मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा द्वारा दर्ज प्राथमिकी पर संज्ञान लिया था।

राकांपा और कांग्रेस के साथ महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महागठबंधन महा विकास अघाड़ी (एमवीए) की हिस्सा शिवसेना, ने पहले आरोप लगाया था कि केंद्रीय जांच एजेंसियां उन्हें ग़लत तरीके से निशाना बना रही हैं।

हाल ही में शरद पवार की पार्टी राकांपा में शामिल हुए भाजपा के पूर्व नेता एकनाथ खड़से को भी ईडी ने पुणे के भोसरी इलाके में एक भूमि सौदे से जुड़े धनशोधन मामले के संबंध में 30 दिसंबर को पूछताछ के लिए तलब किया है।

हनुमानगढ़ कलेक्टर ज़ाकिर हुसैन का समाज के ज़िम्मेदारों ने सम्मान किया

हनुमानगढ़ मुस्लिम संगठनों के पदाधिकारियों द्वारा ज़ाकिर हुसैन साहब को इस बात पर मुबारक बाद पेश की गई है कि  जिला कलेक्टर हनुमानगढ़ को 2 वर्ष सफलतापूर्वक पूर्ण कर लिए हैं और जिले में सभी सरकारी योजनाओं को जमीनी स्तर पर बिना किसी ज़ात पंत के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने में आप अपने दायित्व एवं कर्तव्य को सफलतापूर्वक पूर्ण कर रहे हैं।

आपको हर ग़रीब अमीर का भेदभाव किए बिना आने वाले की समस्या को सुनकर उसी वक़्त हर मुमकिन कोशिश कर  समस्या का समाधान करने को प्राथमिकता प्रदान करते देखा गया है।

श्री ज़ाकिर हुसैन साहब ने अपने कुशल प्रबंधन से कोविड-19 जैसी गंभीर महामारी के समय में भी सराहनीय कार्य किया जो किसी से छिपा नहीं  है।

जिला हनुमानगढ़ में जिला कलेक्टर के पद पर 25 दिसंबर 2020 को 2 वर्ष का कार्यकाल पूर्ण करने पर आपको बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं आपके शानदार इस कार्यकाल से सभी समाजों ने और विशेष रुप से मुस्लिम समाज को एक नई दिशा मिली है।

अल्लाह ताअला से दुआ करते हैं कि आप हमेशा तंदुरुस्त एवं खुश रहें अपने उजाले से समाज को हमेशा रोशन करते रहे ।

ज़ाकिर हुसेन साहब कलैक्टर के रुप में तो सबके सामने एक बहतरीन शख्सीयत है ही इसके अलावा आपका किरदार अवाम के लिए भी एक फरिश्ते से कम नहीं है।

ज़ाकिर साहब का सवभाव इसलिए भी बहुत अच्छा है कि इन्होंने अपने खानदान और बाक़ी अच्छे लोगों के साथ रह कर सब कुछ देखा है। ज़ाकिर हुसैन साहब के घर ही में ऐसी-ऐसी शख्सीयात पैदा हुई हैं जिन्होंने न केवल राजस्थान बल्कि पूरे हिन्दुस्तान में अपना नाम रोशन किया है।

ज़ाकिर हुसैन साहब खुद कलैक्टर हनुमानगढ़ हैं और आपके बड़े भाई आईजी पुलिस, और दूसरे भाई कलैक्टर रह चुके हैं, आपके भतीजे, भान्जे उनकी बहूएं और भतीजी आई.ए.एस और आर.ए.एस जैसे उच्च पदों पर रह कर प्रदेश और देश में अपनी ओर से नई इबारत लिख रहे हैं।

गाँव, गरीब, किसानों का सशक्तिकरण मोदी सरकार की प्राथमिकता है- मुख्तार अब्बास नकवी

रामपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी ने आज यहां कहा कि किसानों के हित्तों की रक्षा और संवर्धन के लिए केवल, न तो कमीशन, न कटौती, न ही भ्रष्टाचार है।
कृषि विज्ञान केंद्र रामपुर ;उण्प्रद्ध में पीड़ित किसान किसान सांवरकिया करम में उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए, राष्ट्रीय स्तर पर 90 मिलियन किसानों के बैंक खातों में पीएम किसान समन निधि के तहत 18,000 करोड़ रुपये के हस्तांतरण के संबंध में, श्री नकवी ने कहा कि गाँव, गरीब, किसान को सशक्त बनाना मोदी सरकार की प्राथमिकता है।

केन्द्रीय मंत्री नक़वी ने कहा कि कृषि सुधार कानून अब किसानों को अपनी फसलों को स्टॉक करने और उन्हें बिचौलियों के चंगुल से मुक्त करने की स्वतंत्रता देगा।
किसान सीधे खरीदारों से जुड़ सकेंगे, जिससे किसानों को उनकी उपज का पूरा मूल्य मिल सकेगा।

कोरोना का पूरी दुनिया मे तहल्का

आज पूरी दुनिया कई  जनता को पता है कि कोरोना एक ऐसी महाबीमारी है जो कि किसी एक जगह नहीं बल्कि पूरी दुनिया ही इस में शामिल है

डाक़टर और साइंतटिस्ट कह रहे हैं कि इस बीमारी से कोई घबराये नहीं, बस इस का अहतियात रखना ज़रूरी है, मगर लोग समझ नहीं रहे हैं और अपनी तरफ से नये नये इलाज बता रहे हैं कि इस तरह से यह कोरोना बीमारी सही हो जयेगी , धार्मिक लोग अपने धर्म की जानकारी से लोगो को बता रहे हैं कि इसका इलाज तो बहुत पहले ही आ चुका है, मगर ये लोग नहीं जानते कि धर्म से जूडे लोग जो सही जानकारी रखते हैं वे भी कह रहे हैं कि  इस से बचे भीड भाड वाले इलाक़ो मैं न जाये और सरकार और प्रशासन को सही जानकारी दे कि जिस किसी के साथ ऐसा हुआ है या किसी में कोइ ऐसे लक्षण पाये जाते हो तो सही इलाज हो सकता है, देश में अचानक बिना समय दिये लोकडाऊन कर दिये जने से जो जहा थे वोह लोग वही रुक गये संसाधन सब बंद हो गये इस वजह से लोग ज़ियादा परेशान हो गये और जैसे तेसे वोह अपने घरो पर पहुंचने की खातिर जैसे थे वैसे ही निकल पडे जो सरकारो और प्रशाशन के लिये मजबूरी और परेशानी का माहोल पैदा कर दिया जो कि नहीं होना चाहिये थाकिसी धार्मिक स्थान या किसी और जगह पर कोई मिल रहा है उस पर गाज़ गिर रही है, सरकार और मीडिया को ऐसे मुद्दो पर ज़ियादा बावेला नहीं मचाना चहिये, जब अखबारो और चैनल्स पर कोइ न्यूज़ आती है तो उसका असर होता ही है , अभी दो दिन पहले बिहार के मज्दूर जब अपने गांव पहुंचने के लिये जक़ रहे थे तो खबर यह भी आयी कि प्रदेश के मुख्यमंत्री  ने अपने प्रदेश मैं प्रवेश नहीं देने की बात कही