भारत कतर से आर्थिक और सुरक्षा सहयोग चाहता है

दोहा-विदेश मंत्री एस जे शंकर ने कतर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी से मुलाकात की और दोनों देशों के बीच आर्थिक और सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। जय शंकर दो दिवसीय यात्रा पर रविवार को दोहा पहुंचे, जो विदेश मंत्री के रूप में खाड़ी देश के लिए पहली बार आए।

जय शंकर ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से एक पत्र शेख तमीम को सौंपा। उन्होंने आज ट्वीट किया, मैं कतर के अमीर हिज हाइनेस तमीम बिन हमद से मिला। उन्होंने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के व्यक्तिगत पत्र को उन्हें सौंप दिया।

भारतीय समुदाय के लिए उनकी गहरी भावनाओं की सराहना की। हम अपने रिश्ते को एक नए स्तर पर ले जाने के उनके दृष्टिकोण से प्रेरित हैं। जय शंकर ने कतर के पिता शेख हमद बिन खलीफा अल थानी से भी मुलाकात की, जिन्होंने 2013 में अपने बेटे को अमीरात सौंप दिया था।

एसजे शंकर ने प्रधानमंत्री खालिद बिन खलीफा बिन अब्दुल अजीज अल थानी से भी मुलाकात की। उन्होंने 19 प्रकोपों के दौरान उनकी देखभाल करने के लिए कतर में भारतीय समुदाय को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि कतरी नेतृत्व के साथ आर्थिक सहयोग और सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने पर चर्चा की गई है।

सरकार को किसानों की आवाज़ सुननी चाहिए और तीन क़ानूनों को वापस लेना चाहिए- प्रियंका गांधी

नई दिल्ली-कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने किसानों के आंदोलन के मद्देनजर केंद्र सरकार और भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार को अन्न दाताओं की बात सुननी चाहिए और तीनों कृषि कानूनों को वापस लेना चाहिए।

पार्टी के स्थापना दिवस पर एक झंडारोहण समारोह में भाग लेने के बाद प्रियंका ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार को किसानों की आवाज़ सुननी चाहिए। यह कहना बिल्कुल ग़लत है कि यह आंदोलन एक राजनीतिक साजिश है। किसानों के लिए वे जिस तरह के शब्द इस्तेमाल कर रहे हैं, वह पाप है। किसान का बेटा सीमा पर खड़ा है। किसान देश का अन्नदाता है।

उन्होंने जोर देकर कहा कि सरकार किसानों के प्रति जवाबदेह है। किसानों से बात करो। उनकी आवाज़ सुनी जानी चाहिए और कानूनों को वापस लेना चाहिए।

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष जेपी नंड्डा ने रविवार को लोकसभा में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण का एक पुराना वीडियो साझा किया था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ हैं। वे आंदोलन का राजनीतिकरण कर रहे हैं।

एक मिनट सात सेकेंड के इस वीडियो में राहुल गांधी किसानों को बिचौलियों से बचाने के लिए उपज को सीधे कारखानों को बेचने की वकालत करते नजर आ रहे हैं।

संजय राउत की पत्नी को पूछताछ के लिए ईडी का समनए पी एम सी बैंक घोटाले में पूछताछ के लिए बुलाया

नयी दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को पीएमसी बैंक धनशोधन मामले में पूछताछ के लिए 29 दिसम्बर को तलब किया है।

यह जानकारी अधिकारियों ने रविवार को दी। वर्षा राउत को मुंबई में केंद्रीय एजेंसी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है। यह उनको पेश होने के लिए जारी तीसरा समन है। इससे पहले वह दो बार स्वास्थ्य आधार पर एजेंसी के समक्ष पेश नहीं हुई हैं।

पूछताछ के लिए उन्हें समन धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत जारी किया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने दावा किया कि ईडी वर्षा राउत से उस राशि की रसीद के बारे में पूछताछ करना चाहता है जिसका कथित तौर पर बैंक से गबन किया गया था।

ईडी ने पिछले साल अक्टूबर में पंजाब एण्ड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक में कथित ऋण धोखाधड़ी की जांच के लिए हाउजिंग डेवलपमेंट इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल), उसके प्रमोटर राकेश कुमार वधावन और उनके बेटे सारंग वधावन, उसके पूर्व अध्यक्ष वी. सिंह और पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस के खिलाफ पीएमएलए में एक मामला दर्ज किया था।


एजेंसी ने पीएमसी बैंक को कथित रूप से प्रथम दृष्टया गलत तरीके से 4,355 करोड़ रुपये का नुकसान और खुद को लाभ पहुंचानेके लिए उनके खिलाफ मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा द्वारा दर्ज प्राथमिकी पर संज्ञान लिया था।

राकांपा और कांग्रेस के साथ महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महागठबंधन महा विकास अघाड़ी (एमवीए) की हिस्सा शिवसेना, ने पहले आरोप लगाया था कि केंद्रीय जांच एजेंसियां उन्हें ग़लत तरीके से निशाना बना रही हैं।

हाल ही में शरद पवार की पार्टी राकांपा में शामिल हुए भाजपा के पूर्व नेता एकनाथ खड़से को भी ईडी ने पुणे के भोसरी इलाके में एक भूमि सौदे से जुड़े धनशोधन मामले के संबंध में 30 दिसंबर को पूछताछ के लिए तलब किया है।

बिना ड्राइवर के चलेगी मेट्रो, ऐसी पहली सर्विस को 28 दिसंबर को मोदी दिखाएंगे हरी झंडी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 दिसंबर को देश की पहली पूर्ण.स्वचालित चालकरहित ट्रेन सेवा को दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन पर हरी झंडी दिखा कर रवाना करेंगे। दिल्ली मेट्रो रेल निगम डीएमआरसी ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

दिल्ली मेट्रो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि नई पीढ़ी की इन ट्रेनों का वाणिज्यिक परिचालन एक बड़ी प्रौद्योगिकी उपलब्धि साबित होने वाला है। इन ट्रेनों का परिचालन कार्यक्रम के बाद शुरू होगा।
डीएमआरसी ने एक बयान में कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 37 किलोमीटर लंबी मजेंटा लाइन पर देश की अब तक की पहली पूर्ण.स्वचालित चालकरहित ट्रेन सेवा को हरी झंडी दिखाएंगे और 23 किलोमीटर लंबी एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन नयी दिल्ली से द्वारका सेक्टर 21 तक पर यात्रा के लिए पूरी तरह परिचालन वाले नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड एनसीएमसी को भी जारी करेंगे।

डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दोनों कार्यक्रमों, चालक रहित ट्रेन को हरी झंडी दिखाने और एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर एनसीएमसी की शुरूआत वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से की जाएगी।

उन्होंने कहा, यह पहला मौका होगा जब यात्री दिल्ली मेट्रो के किसी भी मार्ग पर एनसीएमसी का उपयोग कर पाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने मार्च 2019 में स्वदेश विकसित एनसीएमसी पेश किया था, ताकि लोग देश भर में मेट्रो और बस सहित विभिन्न प्रकार के परिवहन शुल्क का इसके जरिए भुगतान कर सकें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों से पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपयी के किताब का विमोचन

इस किताब में पूर्व प्रधानमन्त्री वाजपेयी की ज़िन्दगी पर रोशनी डाली गयी है

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के संस्थापक पंडित मदन मोहन मालवीय का जन्मदिन शुक्रवार को संसद भवन में मनाया गया। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, राज्यसभा में विपक्ष के नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद और लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी सहित कई नेताओं ने पंडित मालवीय और श्री वाजपेयी को श्रदाजंली दी।

कार्यक्रम के बाद, प्रधानमंत्री मोदी ने ए कॉमन मॉर्टेलिटी वॉल्यूम नाम की एक पुस्तक लॉन्च की। लोकसभा सचिवालय द्वारा प्रकाशित पुस्तक पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जीवन यात्रा पर प्रकाश डालती है। उनके भाषणों को भी शामिल किया गया है। पुस्तक में उनके सार्वजनिक जीवन की कुछ दुर्लभ तस्वीरें प्रकाषित भी की हैं।


स्वर्गीय अटलबिहारी वाजपयी भारत देश के तीन बार प्रधान मंत्री, कवि, पत्रकार और प्रवक्ता थे। वह 1957 में लोकसभा चुनाव जीतने के बाद पहली बार संसद पहुंचे। वाजपयी 10 बार लोकसभा और दो बार राज्यसभा के सदस्य रहे।