हमारे बारे में

 

अमानत 24 डॉट कॉम भारत का सबसे तेजी से बढ़ता हुआ समाचार पोर्टल है। अमानत 24 डॉट कॉम हिन्दी भाषा का अपने आप में इकलौता ऐसा ऑन लाईन हिन्दी समाचार पोर्टल है, जो कि हिन्दी भाषी पाठकों में हिन्दी भाषा के प्रचार-प्रसार के साथ ही प्रतिदिन के राजनीतिक, व्यवसायिक, समाजिक घटनाओं तथा मनोरंजन, पर्यावरण, तकनीकी समाचारों एवं सरकारी योजनाओं व अन्य विषयों पर आधारित सभी क्षेत्रों का प्रमुखता से विश्लेषण एवं तथ्य अन्वेषण कर आप तक पहंचाने को प्रयासरत है।

इस समाचार पोर्टल अमानत 24 डॉट कॉम, जो कि यूनिवर्सल मीडिया एण्ड पुब्लिकेशन ग्रुप के अंतर्गत एक उपक्रम के रुप मे शुरुआत सदी की सबसे महत्वपूर्ण तिथि 12.12.12 को यादगार बनाने से हुई है। इस समाचार पोर्टल में आप अपने क्षेत्र से संबंधित उपयोगी जानकारी , समाचार, महत्वपूर्ण घटनाएं, साक्षात्कार इत्यादि निरन्तर अपडेट प्राप्त कर सकते हैं। हमारा प्रयास समाज के सभी वर्गों जिसमें बच्चे, महिलाएं, पुरुष, वृद्ध आदि की भावनाओं से संबंधित जानकारी को उद्देश्यपूर्ण एवं पूर्ण विश्वसनीयता के साथ प्रसार करने के लिए तथा इसके साथ ही हमारा यह भी प्रयास रहेगा कि किसी भी जानकारी को प्रसारित करने से पूर्व उसकी सत्यता, उसके दूरगामी परिणाम, किसी समाज अथवा क्षेत्र अथवा व्यक्ति विशेष के प्रति उदासीनता न फैले, इसके लिए वचनबद्ध हैं तथा इस बात का भी पूर्णरुप से ध्यान रखा जाएगा कि कोई भी जानकारी क़ानून विरोधी व असंवैधानिक गतिविधियों को बढ़ावा देने वाली न हो। हमारे द्वारा दी गई जानकारी पर किसी भी प्रकार की कोई आपत्ति, असहमति, असंतुष्टि के लिए आप हमें अपने सूझाव दे सकते हैं।

उद्देश्य-: हमारा मुख्य उद्देश्य अपने पाठकों तक चाहे वह किसी भी वर्ग अथवा क्षेत्र से हो, पूर्ण एवं स्वच्छ जानकारी देना मात्र से है। हमारा उद्देश्य हिन्दी पत्रकारिता को प्रोत्साहन देना, देश एवं विदेशों में रहने वाले वैश्विक शख्सीयतों, विश्लेषकों के साक्षात्कारों द्वारा उनकी सोच, भावनाएं तथा उनके उच्च विचारों को प्रसारित करना है। देश एवं दुनिया के दैनिक घटनाक्रमों से संबंधित समाचारों की जानकारी को मुद्रण तथा ऑडियो-विडियोज़ के द्वारा सीधा प्रसारण करना है, चुंकि वर्तमान युग सूचना एवं तकनीकी क्रांति में अपने आप में अग्रसर है, जिसमें हमारे देश एवं सरकार का महत्वपूर्ण योगदान है, जिसकी धारा में इन्टरनेट विश्व में लोगों तक स्वतंत्र विचारों का आदान प्रदान करने का सरल एवं सुलभ माध्यम है। इसी के मद्देनज़र हमारा प्रयास इन्टरनेट से जुड़े पाठकों तक हिन्दी भाषायी सूचनाएं एवं समाचार प्रसारित करने का तथा देश तथा सरकार के वैश्विक स्त्तर पर अपनी राष्टीय भाषा हिन्दी का प्रचार-प्रसार करने मात्र से है। इस पवित्र सोच एवं राष्ट्र हित्त कार्य में आपकी सराहना एवं सहयोग अपेक्षित है।


कुँवर नियाज़ मुहम्मद

एक परिचय

ग्रामीण परिवेश में पले बढ़े तथा सौभाग्य से शिक्षित एवं सभ्य परिवार में जन्मे, राजस्थान के पूर्व जांगल प्रदेश व वर्तमान में बीकानेर कहलाए जाने वाले मरुक्षेत्र वाले शहर जहां इतिहास मे अपनी अमिट छवि छोड़ चुके महाराजा श्री गंगासिंह जी, ऋषि कपिल मुनि एवं संतों की नगरी तथा वर्तमान के कई प्रमुख राजनेतागण, अभिनेता तथा अन्य क्षेत्रों की प्रतिभा रखने वाले प्रतिभावान लोगों से प्रसिद्ध इस क्षेत्र में जन्मे तथा पढ़ने लिखने का अवसर प्राप्त हुआ।

आपकी प्रारंभिक शिक्षा ग्रामीण क्षेत्र में हुई तथा उच्च शिक्षा में लगाव एवं पूर्ण करने के लिए आपको शहरी परिवेश में आना पड़ा। बीकानेर में आकर उच्च शिक्षा प्राप्त की। शुरु से ही साहित्य एवं पत्रकारिता में रुचि रखने एवं इसी क्षेत्र में कुछ करने की प्रबलता रही जिसके चलते आपने कई अन्य भारतीय भाषायी समाचार पत्रों से जुड़ कर एवं उनमें महत्वपूर्ण आलेख तथा समाचार लिख कर पत्रकारिता में गहरा अनुभव प्राप्त किया। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए 1989 में इसी शहर से प्रकाशित हिन्दी साप्ताहिक समाचार पत्र “बीकानेर की आवाज़” में सह सम्पादक के पद पर रह कर पूर्णरुप से इस विशाल क्षेत्र में आपने पत्रकारिता कॅरियर की शुरुआत की, उसके पश्चात 1992 से स्वतंत्र रुप से हिन्दी भाषी पाक्षिक समाचार पत्र “हिन्दुस्तान की अमानत” का मुख्य सम्पादक एवं प्रकाशक के रुप में पत्र का सम्पादन तथा प्रकाशन किया। इसके साथ ही 1997 में “रेल परिचय” नामक पाक्षिक हिन्दी समाचार पत्र, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से प्रकाशित किया। जिसमें लम्बे समय तक पत्रकारिता के साथ-साथ रेलवे क्षेत्रीय सलाहकार समितियों में रहकर रेल विभाग को समझने का गहरा अनुभव हुआ तथा अपनी नैतिक ज़िम्मेदारियों को भलिभांति निभाया।

अब तक आप अपनी पत्रकारिता की रुचि को बहुत अधिक बढ़ा चुके थे, किन्तु तत्कालीन समय में आपके सराहनीय कार्यों को अपेक्षाकृत सफलता न प्राप्त होते हुए भी आपने अपने पत्रकारिता के प्रयास के अन्तर्गत जन-जन तक सही एवं सत्य जानकारी पहुंचाने के कार्य एवं लक्ष्य में संकटों, मुश्किलों व तकलीफों तथा आलोचनाओं की परवाह न करते हुए अपनी सफलता के मार्ग पर निर्भिकता के साथ आगे बढ़ते रहे। जिसमें आपने अपने नैतिक मूल्यों में कभी गिरावट नहीं आने दी। आपकी इस अभिरुचि में आपके माता-पिता एवं परिवार के लोगों ने आपके कार्य को समझा, सराहा ही नहीं बल्कि हर कठिन परिस्थिति में मार्ग दर्शक बन कर सहयोग किया, चुंकि नैतिक मूल्य आपको विरासत में मिले जिनके रहते हुए आपने पत्रकारिता के महत्व और ज़ोख़िम भरे रास्तों पर निर्भिकता के साथ अकेले चलते रहने की प्रेरणा भारत के महान लेखक ठाकुर रविन्द्रनाथ टैगोर के प्रसिद्ध गीत “एकला चालो” से प्रेरित हुएl

वर्ष 2004 में आपका जुड़ाव “यूनिवर्सल पब्लिकेशन” से हुआ जिसमें आपको प्रकाशक के पद पर रहते हुए विश्व स्त्तरीय समाजिक बुद्धि जीवियों व प्रसिद्ध लेखकों से जुड़ने का अवसर प्राप्त हुआ। जिसके अन्तर्गत आपने अन्तरराष्ट्रीय स्त्तर की पुस्तक “अल-हादी” का अंग्रेज़ी भाषा में प्रकाशन किया। इसी के साथ कई विदेश यात्राएं करने तथा अप्रवासी भारतीयों एवं वैश्विक पत्रकारिता से जुड़े महानुभावों के साथ रहने का भी अवसर प्राप्त हुआ। लम्बे समय से प्रिंट मीडिया एवं पत्रकारिता से जुड़े होने तथा सभी पहलुओं को समझने एवं परखने के बाद वर्तमान समय के साथ चलने का मानस बनाकर मौजूदा इलैक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से प्रचलित इन्टरनेट समाचार पत्र, पत्रिकाओं के स्त्तर पर अपने आपको पहुंचाने का प्रयास अमानत 24 डॉट कॉम ऑनलाईन समाचार पोर्टल में संस्थापक एवं मुख्य सम्पादक के रुप में हमारे समक्ष उपस्थित हे, जो कि हमारे यूनिवर्सल मीडिया एण्ड पुब्लिकेशन ग्रुप का एक उपक्रम है l

कुँवर नियाज़ मुहम्मदमैं यह बताते हुए कठिन चुनौतिभरा प्रयास समझ रहा हुं कि मैं अपने पत्रकारिता के 22 वर्षीय अनुभव में अपने जीवन के अन्वरत संघर्ष के साथ वर्तमान स्त्तर पर पहुंचा हुं, जिसमें मेरी पारिवारिक विरासत, नैतिक मूल्य, कड़े अनुशासन, धार्मिक, सामाजिक, एवं देश हित्त के प्रति तत्परता से वफादारी तथा ईमानदारी से कार्य करने की सोच, सादा व सरल जीवन, व्यतीत करने का गुण तथा जीवन मूल्यों का उचित मार्ग दर्शन का श्रेय मैं अपने पुजनीय पिताजी स्वर्गीय सिराजुद्दीन खां तथा माताजी स्वर्गीय नूरजहां तथा अपने नानाजी स्वर्गीय मूसे खां को देता हुं, जिनके आशीर्वाद, शिक्षा, मार्ग दर्शन से वर्तमान की उंचाईयों के स्त्तर पर अपने आपको उनका उत्तराधिकारी होने पर गौर्वान्वित समझता हुँ। मुझे इस परोपकारी जीवन देने के लिए तथा मेरी प्रगत्ति के लिए मैं उनको धन्यवाद देता हुँ। मैं अपने माता-पिता का पुत्र होने में अपने आपको सौभाग्यशाली मानता हुँ। पत्रकारिता का क्षेत्र इतना विशाल रुप धारण किए हुए है, जिसमें अपने स्त्तर पर हर कोई अपने क़लम से जौहर दिखा रहा है, परन्तु मेरी सोच इस मामले में व्यवसायिक न हो कर सामाजिक एवं देश हित के मेरे उद्देश्यों को पूर्ण करने की नीयती से मैंने इस समाचार पोर्टल अमानत 24 डॉट कॉम की शुरुआत की है, जिससे कि मेरा प्रयास आमजन तक सही एवं स्पष्ट जानकारी के साथ पहुंचाने मात्र के उद्देश्य से है। मैं अल्लाह से दुआ करता हुं कि मैं आजीवन पत्रकारिता के प्रति सेवा-भाव से अपने आपको समर्पित कर, अपने जीवन को व्यतीत करुं।

अल्लाह मेरी मदद करे।

 

 

कुँवर नियाज़ मुहम्मद

मुख्य संपादक