Thursday, July 25, 2024
Google search engine
Homeधर्मइस्लामबीकानेर की क़ौमी एकता पूरे देश में रखती है विशेष पहचान मजलिस-ए-ईद...

बीकानेर की क़ौमी एकता पूरे देश में रखती है विशेष पहचान मजलिस-ए-ईद मिलन समारोह आयोजित


बीकानेर, शिक्षा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने कहा कि बीकानेर की कौमी एकता पूरे देश में अपनी विशेष पहचान रखती है। यहां सभी धर्म और जाति के लोग मिल-जुलकर तीज, त्यौहार और उत्सव मनाते हैं।
डॉक्टर कल्ला ने रविवार को होटल बाबू हेरिटेज में मजलिस-ए-ईद मिलन समारोह के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि हमारा शहर सभी धर्मों और संस्कृतियों का सम्मान करता है। इस गंगा जमुनी संस्कृति को बनाए रखना हम सभी की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि रमजान का पाक महीना खुदा की इबादत का वक्त होता है। उन्होंने सभी को ईद और बीकानेर स्थापना दिवस की मुबारकबाद दी। इस दौरान उन्होंने अल्पसंख्यक बालक छात्रावास और हज हाऊस निर्माण के लिए विधायक निधि से 25 लाख रुपए देने की घोषणा की। इसके लिए 2 बीघा ज़मीन और हज कमेटी से 50 लाख रुपए की घोषणा की।


उन्होंने मुरलीधर कॉलोनी में अल्पसंख्यक बालक छात्रावास, मोहता सराय क्षेत्र में हज हाऊस बनाने, राजस्थान मुस्लिम मिरासी समुदाय (मिरासी, ढाढ़ी, दमामी, माँगठणियार, नागारची, लंगाराणा ) समाज के लिए छात्रावास बनाने, अल्पसंख्यक क्षेत्र अमरसिंहपुरा, सुभाषपुरा में सावित्री बाई फुले वाचनालय, 100 बेड आवासीय यूथ हॉस्टल, सभी राजकीय अंग्रेजी माध्यम महात्मा गाँधी विद्यालयों में उर्दू विषय शुरू करने के अलावा अमर सिंह पुरा में पशु चिकित्सालय खोलने की घोषणा भी की।
कार्यक्रम में ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी भी मौजूद रहे। उन्होंने वहां मौजूद लोगों से गले मिलकर उन्हें मुबारकबाद दी। आयोजन के लिए आयोजकों का आभार जताया।
कार्यक्रम में संभागीय आयुक्त डॉक्टर नीरज के पवन, यशपाल गहलोत अतिरिक्त संभागीय आयुक्त एएच गौरी, नगर विकास न्यास सचिव यशपाल आहूजा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मुहम्मद अबरार पंवार मौजूद रहे।
कार्यक्रम शिवबाड़ी महंत स्वामी विमर्शानंद, शहर क़ाज़ी शाहनवाज़ हुसैन, हाफिज फरमान अली, ग्रंथी चरणजीत सिंह तथा सिस्टर रेवरेंड क्रिस्टीना डेनियल के सानिध्य में आयोजित हुआ।
सभी धर्म गुरुओं ने कार्यक्रम की सराहना की और कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से बीकानेर के आपसी प्रेम और भाईचारे की भावना और अधिक प्रगाढ़ होती है। उन्होंने बीकानेरीयत को बरक़रार रखने का आह्वान किया।
इस दौरान सभी अतिथियों का साफा, शॉल और माला पहनाकर स्वागत किया गया। शहर क़ाज़ी शाहनवाज़ हुसैन ने क़ुरआन की सूरह रहमान के एक रुकू की तिलावत कर के मजलिस-ए-ईद मिलन कार्यक्रम की शुरुआत की।
इस अवसर पर हाजी मुहम्मद सलीम सोढ़ा, ज़िया उर रहमान आरिफ, एडवोकेट सैयद अनवर, शहाबुद्दीन भुट्टा, मुहम्मद असलम पार्षद, डाक्टर तनवीर मालावत, मुहम्मद हुसैन नागौरी, नवाब अली खां पूर्व कार्यक्रम अधिकारी, हाजी रहीम खां भुट्टा, नियामत अली, शेरशाह,शहज़ाद अहमद परिहार अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, आरिफ पिंजारा, इक़बाल मलवान, ताहिर हसन क़ादरी क़ादरी मुहम्मद सद्दीक़ परिहार वसीम अब्बासी, शहज़ाद पार्षद वसीम फिरोज़, मुजीब ख़िलजी, अकबर खादी, नन्दलाल जावा, अलीमुद्दीन जाती, मास्टर मन्सूर, अब्दुल समद, महताब दमामी, असीम सैयद, अहमद अली भाटी, जैनुल आबेदीन, नासिर शहज़ाद तंवर, अमजद अब्बासी, महबूब रंगरेज, मुहम्मद मूसा, ज़ाकिर पठान, नसीम अहमद मेव,ऐज़ाज अहमद पठान, साजिद सुलेमानी, जावेद परिहार पार्षद, मुहम्मद हारून राठौड़, एडवोकेट मुहम्मद असलम, एडवोकेट कुंवर नियाज़ मुहम्मद, सलीम रज़ा मांगलिया, एडवोकेट शमशाद अली, मास्टर अनवर हुसैन, बशीर अहमद अब्बासी, गुलाम मुस्तफा, मुहम्मद इक़बाल समेजा, मुहम्मद अयूब सोढ़ा, ज़ाकिर हुसैन नागौरी, अत्ता हुसैन क़ादरी, नज़रुल अब्बासी, क़यामुद्दीन, इस्माइल, हाजी बरकत अली परिहार, हाजी मुहम्मद शरीफ समेजा, एडवोकेट शकीना खान, मुमताज बानो, डॉ. हैदर मिर्ज़ा बैग, सहित अनेक गणमान्य मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments