Thursday, July 25, 2024
Google search engine
Homeस्वास्थ्यतीन घंटे चली जनसुनवाई में जिला कलक्टर ने सुने 80 से अधिक...

तीन घंटे चली जनसुनवाई में जिला कलक्टर ने सुने 80 से अधिक प्रकरण
संवेदनशीलता से कार्य करते हुए आमजन को राहत पहुंचाने के निर्दश

बीकानेर, 19 मई। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने गुरुवार को तीन घंटे तक चली जिला स्तरीय जनसुनवाई में 80 से अधिक परिवादियों की शिकायतें सुनी और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जनसुनवाई में जिला कलक्टर ने कहा कि छोटे-छोटे प्रकरणों को तत्काल निस्तारित किया जाए। ऐसे प्रकरण बेवजह लंबित नहीं रहें। ब्लॉक या जिला मुख्यालय के किसी कार्यालय में यदि परिवादी पहुंचता है, तो उसकी समस्या दर्ज करते हुए प्रत्येक वाजिब काम अविलम्ब करवाएं। ऐसे प्रकरण, जिनका तुरंत निस्तारण संभव नहीं हैं, उनमें उचित टिप्पणी के साथ परिवादी को समयबद्ध जवाब प्रस्तुत करें। मुख्यमंत्री की जनसुनवाई के दौरान प्राप्त परिवादों की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि प्रत्येक विभाग प्रकरणों में तथ्यपरक टिप्पणी के साथ जवाब प्रस्तुत करें, अन्यथा संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।


जिला कलक्टर ने कहा कि ग्राम पंचायत एवं पंचायत स्तर की जनसुनवाई में जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाए। यह प्रयास करें कि परिवादी की समस्या का निचले स्तर पर ही समाधान हो जाए। जिले के विभिन्न क्षेत्रों में रास्ता खुलवाने से संबंधित प्रकरणों पर जिला कलक्टर ने कहा कि रास्ता खुलवाने के बाद यदि पुनः बंद करने और कब्जे जैसे मामले सामने आते हैं, तो संबंधित पक्ष के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाएं। जन सुनवाई में हदां में ओरण भूमि से अतिक्रमण हटवाने, श्रमिक डायरी के नवीनीकरण, खाजूवाला के 34 केवाईडी में रास्ता खुलवाने, भादला में श्मशान भूमि व मंदिर से अतिक्रमण हटवाने की परिवेदना पर जिला कलक्टर ने तुरंत कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
जनसुनवाई के दौरान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्लेम भुगतान नहीं करने संबंधी कई मामले आए। अब तक हुई प्रगति पर असंतोष जताते हुए जिला कलक्टर ने कहा कि बीमा कंपनी के विरुद्ध फसल बीमा राशि का भुगतान न करने, गलत सर्वे और रिपोर्ट देने व मौके पर ना जाने जैसी शिकायतें बड़ी संख्या में मिल रही हैं। इसके मद्देनजर बीमा कंपनी का एक प्रतिनिधि अनिवार्य रूप से कृषि विभाग के ब्लॉक स्तरीय कार्यालय में उपस्थित रहेगा तथा किसानों के आवेदनों पर नियमित रूप से सुनवाई करते हुए बैंकों के साथ भी समन्वय रखेगा, जिससे किसानों को क्लेम का समय पर लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि मौके पर जाकर ही सर्वे रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए।
भादला में कृषि कनेक्शन से पृथक घरेलू कनेक्शन देने, कानासर की झुग्गियों में आग लगने के प्रकरण में मुआवजा दिलवाने, मंदिर की जमीन से अतिक्रमण हटवाने सहित रास्ता खुलवाने से संबंधित प्रकरणों पर सुनवाई करते हुए संबंधित तहसीलदार को निर्देश दिए। श्रीडूंगरगढ़ बीसीएमओ के सीएससी पर बैठने की शिकायत पर जिला कलक्टर ने कहा कि भी बीएमओ अगले 7 दिन में सीएससी पर बैठना बंद कर देंगे और तहसीलदार इस संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। जिला कलक्टर ने कहा कि सुनवाई के अधिकार के तहत प्रत्येक कार्यालय में पंजिका का संधारण किया जाए।
नोखा विधायक बिहारीलाल बिश्नोई ने विशेष अभियान चलाकर जिले भर में बंद रास्ते खुलवाने और अतिक्रमण हटवाने का सुझाव दिया। उन्होंने रासीसर में हाईटेंशन लाइन हटवाने और मेनसर पीएचसी से अतिक्रमण हटवाने की मांग की।
बैठक में हुई विभिन्न प्रकरणों पर चर्चा
इससे पहले जिला जन अभाव अभियोग निराकरण एवं सतर्कता समिति की बैठक में जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल की अध्यक्षता में आयोजित हुई। इस दौरान 9 प्रकरणों पर चर्चा हुई। इनमें से तीन का निस्तारण किया गया तथा 17 नए प्रकरण दर्ज किए गए। जिला कलक्टर ने सतर्कता समिति में दर्ज प्रकरणों को सर्वोच्च प्राथमिकता से निस्तारित करने के निर्देश दिए। इस दौरान अतिरिक्त कलक्टर (प्रशासन) ओमप्रकाश, उपनिदेशक महिला एवं बाल विकास शारदा चौधरी, जीएम डीआईसी मंजू नैण गोदारा सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments